close

नया काम शुरू करने से पहले क्या करना चाहिए | किस समय नया कार्य प्रारंभ नहीं करना चाहिए

क्या आप कोई नया काम शुरू करना चाहते हैं? और जानना चाहते हैं, कि नया काम शुरू करने से पहले क्या करना चाहिए? और नया काम शुरू करने से पहले क्या नहीं करना चाहिए? अगर आप भी ज्योतिष में विश्वास रखते हैं। तो यह जानकारी आपके लिए है। क्योंकि यहां पर मैं आपको ज्योतिष के माध्यम से बताने वाला हूं, कि नया काम शुरू करने से पहले आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए?

नया काम शुरू करने से पहले क्या करना चाहिए?

अगर बात ज्योतिष की की जाए तो कोई भी नया कार्य को शुरू करने से पहले शुभ समय अवश्य देख लेना चाहिए। क्योंकि शुभ समय में ही किया गया कार्य शुभ फल देता है। और प्रत्येक दिन कोई ना कोई शुभ समय चलता रहता है। इसलिए शुभ समय में काम करना आपके लिए शुभ फलदाई होगा।

अगर कोई कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त निकलवा लिया जाए, तो वह कार्य इस सफलता में वृद्धि होने के आसार ज्यादा हो जाते हैं। क्योंकि शुभ मुहूर्त वह समय होता है। जो उस कार्य के लिए ही बनाया गया है। और वह कार्य उस समय किया जाए तो अपना प्रभाव अधिक दिखलाता है।

लेकिन अगर वहीं आप कोई ऐसा कार्य करने जा रहे हैं। जो आपको आज ही करना है। तो उसके लिए आप चौघड़िया का इस्तेमाल कर सकते हैं। चौघड़िया का इस्तेमाल कर कर भी शुभ समय निकाला जाता है। चौघड़िया का इस्तेमाल तभी करना चाहिए। जब आप तत्काल कार्य को करना चाहते हैं। वरना उस कार्य को करने के लिए किसी विशेषज्ञ से सलाह लेकर शुभ मुहूर्त निकलवा लेना अति उत्तम रहता है।

क्योंकि शुभ मुहूर्त को निकालने में काफी बारीकी से अध्ययन किया जाता है। एक एक पहलुओं पर नजर रखा जाता है। जिससे वह आपके लिए शुभ बन जाए।

किस समय कार्य प्रारंभ नहीं करना चाहिए?

अगर आपको ज्योतिष का जरा सा भी ज्ञान है। तो आप किसी भी पंचांग में दिए हुए शुभ समय और अशुभ समय को जान सकते हैं। लेकिन आपको ज्योतिष का ज्ञान नहीं है तो आप किसी ज्योतिषी से मिलकर शुभ समय का चयन कर सकते हैं। क्योंकि शुभ समय का चयन करना बेहद अनिवार्य होता है।

आप किसी भी स्थानीय पंचांग में पंचक काल, राहुकाल, भद्रा आदि देख सकते हैं। इसके अलावा भी कई और योग और कर्ण होते हैं। जिसमें शुभ कार्य नहीं किया जाता है। यह सब अशुभ समय होते हैं। इसमें कार्य प्रारंभ नहीं करना चाहिए। लेकिन वही पंचक काल में कुछ ऐसे कार्य होते हैं। जो किया जा सकता है। जैसे विवाह, मुंडन, गृह प्रवेश, गृह आरंभ, वधू प्रवेश, उपनयन, व्यापार आदि प्रारंभ करना पंचक नक्षत्रों में शुभ माना गया है। इसलिए पंचक में यह सभी कार्य किए जा सकते हैं।

मैं आपको यही सलाह दूंगा, कि आप कोई भी कार्य करना चाहते हैं। तो उसके लिए आप अपने स्थानीय पंडित से अवश्य मिले। कोई शुभ मुहूर्त निकलवा ले। और उस शुभ समय पर अपना कार्य प्रारंभ करें। जिससे आपका कार्य पूरा होने की संभावना अधिक बढ़ जाएगी।

      You cannot copy content of this page

      Mangal Muhurt
      Logo