close

स्त्री और पुरुष के दाहिने और बाएं पैर का फड़कना | पैर, तलवा, उंगली और पिंडली का फड़कना | donon pair ka fadkana

आज हम पैर फड़कने के बारे में विस्तार से जानेंगे। पैर फड़कने से संबंधित सभी विषयों पर आज हम प्रकाश डालने वाले हैं। जैसे दाहिने पैर का फड़कना, बाएं पैर का फड़कना, पैर के तलवों का फड़कना, पैर की उंगलियों का फड़कना, पैर के अंगूठे का फड़कना, पैर की पिंडलियों का फड़कना आदि के बारे में, कि पैर का फड़कना किस बात की ओर संकेत देता है।

जैसा कि मैंने अपने सभी अंगों के फड़कने के बारे में बताया है, की अंगों का फड़कना तभी शुभ माना जाता है, या अशुभ माना जाता है। जब वह ज्यादा समय के लिए फड़के जैसे बार-बार अंग फड़कना या 1 से 2 दिन तक लगातार अंग फड़कता है। तो यह आपके आने वाले निकट भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में आपको संकेत दे रहा है।

पैर का फड़कना

अगर किसी व्यक्ति का पैर फड़कता है। तो यह एक बेहद शुभ संकेत माना जाएगा। क्योंकि पैर का फड़कना बेहद शुभ होता है। लेकिन इसमें भी दाहिने पैर और बाएं पैर का अर्थ बदल जाता है। लेकिन दोनों पैरों का अर्थ शुभ ही होता है। नीचे दाहिने और बाएं दोनों पैरों के बारे में जानकारी दिया गया है।

दाहिना पैर फड़कना

अगर किसी व्यक्ति का दाहिना पैर फड़कता है। तो यह एक बेहद शुभ संकेत मानना चाहिए। क्योंकि दाहिना पैर का फड़कना जिंदगी में चल रहे समस्याओं से छुटकारा पाने की ओर संकेत देता है। आपकी जीवन की सभी कष्ट अब दूर होने वाले हैं। ऐसा जानना चाहिए।

बाएं पैर का फड़कना

वहीं अगर बायां पैर भड़कता है। तो भी यह बेहद शुभ माना जाएगा। क्योंकि बाया पैर का भी फड़कना आपकी जीवन में मिलने वाले शुभ समाचार की ओर संकेत करता है। अर्थात आपको कोई शुभ समाचार प्राप्त होने वाला है।

बाएं पैर की पिंडली फड़कने से क्या होता है?

अगर किसी व्यक्ति के पैर की पिंडलीयां फड़कती हैं। तो इस को आमतौर पर देखा जाए, तो शुभ नहीं माना जाता।लेकिन इसमें दाहिने और बाएं पैर की पिंडली का अर्थ अलग समझना चाहिए। हालांकि यह शनि और बुध ग्रह का अधीन माना जाता है। जोकि शत्रु भय को पैदा करता है। लेकिन इसको दाहिने पैर में अलग माना जाता है। जो कि नीचे दिया गया है।

दाहिने पैर की पिंडली फड़कना

अगर किसी व्यक्ति का दाहिने पैर की पिंडली फड़कता है। तो ऊपर बताए गए नियम अनुसार यह शुभ नहीं होता है। लेकिन कुछ जगहों पर देखा गया है। कि दाहिने पैर में पिंडली फड़कता है। तो अचानक धन लाभ भी देता है। इस अनुसार इसे दाहिने पैर के लिए शुभ समझना चाहिए।

दाएं घुटने में फड़कन

अगर किसी व्यक्ति के दाहिने घुटने में फडकन होता है। तो भी यह शुभ माना जाएगा। क्योंकि यह आभूषण प्राप्त होने का संकेत देता है।

बाएं पैर का घुटना फड़के तो क्या होता है?

अगर वही किसी व्यक्ति का बाएं पैर का घुटना फड़कता है। तो भी यह शुभ ही माना जाएगा। क्योंकि यह भी रुके हुए कार्य को पूरा होने का संकेत देता है।

पैर का अंगूठा और उंगली फड़कना

अगर किसी व्यक्ति के पैर की दाहिनी और बाई उंगली फड़कती है। तो इसका अलग-अलग अर्थ होगा। क्योंकि दाहिनी उंगली का फड़कना शुभ नहीं माना जाता। लेकिन भाई उंगली का फड़कना शुभ माना जाता है।

दायां पैर का तलवा फड़कना

अगर किसी व्यक्ति के दाहिने पैर का तलवा फड़कना है। तो यह शुभ संकेत नहीं है। क्योंकि यह समाज में अपमान होने का संकेत देता है। अर्थात आपकी मान प्रतिष्ठा घटने वाली है।

बाये पैर का तलवा फड़कना

वहीं अगर किसी व्यक्ति के बाएं पैर का तलवा फड़कता है। तो यह आपके लिए शुभ संकेत देता है। इसका अर्थ होता है कि आपको कहीं पर यात्रा करने को मिलेगा।

      You cannot copy content of this page

      Mangal Muhurt
      Logo