close

परिवार में शांति के उपाय | घर में झगड़ा रोकने के उपाय | घरेलू झगड़ा रोकने के उपाय | Parivar mein Shanti ke upay

आज के इस दौर में लोग काफी बिजी होते जा रहे हैं। जिससे घरेलू हिंसा भी काफी कम हो रहा है। जो कि काफी खुशी की बात है। लेकिन इसके दौरान कुछ जगहों पर अभी भी घरेलू हिंसा होते हैं। चाहे वह पति-पत्नी में, सास-बहू में, पिता-पुत्र में, भाई-भाई में, देवरानी-जेठानी में, भाई-बहन या अन्य रिश्तेदारों के साथ झगड़ा हो जाता है।

तो उसके लिए ऐसा क्या उपाय करें। जिससे वह झगड़ा समाप्त हो जाए, और रिश्ते बेहतर बने। क्योंकि खुशहाल जीवन जीने के लिए रिश्ते को बेहतर बनाना अति आवश्यक है। अन्यथा झगड़ा दोनों तरफ के लोगों को एक दूसरे से बदले की आग में जल आता रहता है।

कुछ बदला इतने भयानक रूप ले लेते हैं। जोकि एक व्यक्ति के साथ-साथ पूरे परिवार का भविष्य अंधेरे में जाने लगता है। इसलिए यह घरेलू हिंसा या कोई आपसी भी झगड़ा हो, तो उसे समझदारी से खत्म करने में ही फायदा है।

आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे। जानेंगे कि कौन से ऐसे ज्योतिषी उपाय हैं। जिससे घरेलू हिंसा या कोई भी आपसी रिश्ते में पड रही दरार को खत्म किया जाए।

घर में झगड़ा रोकने के उपाय

सबसे पहले हम कुछ ज्योतिषी उपाय के बारे में जान लेते हैं। जिससे घर में होने वाला झगड़ा समाप्त किया जा सके। लेकिन आपको उपाय बताने से पहले मैं यह बतलाना चाहता हूं, कि कोई भी उपाय किया जाए। वह तभी सफल होगा। जब उसके लिए भरपूर प्रयास किया जाए। अन्यथा उपाय करके छोड़ दिया जाए। तो उसका फल प्राप्त नहीं होगा।

शायद मेरे कहने का अर्थ आपको समझ नहीं आया होगा। कि मैं क्या कहना चाहता हूं? इसलिए मैं आपको एक सरल भाषा में समझाता हूं। मैं आपको यह समझाना चाहता हूं। कि मान लीजिए आपने कोई ज्योतिषी उपाय किया। उसके बाद आपके साथ कोई व्यक्ति झगड़ा करने लगे, तो आप भी उसके साथ बहस बाजी करना प्रारंभ कर दिया। तो यहां पर किए हुए ज्योतिषी उपाय का कोई फल मिलने वाला नहीं है। क्योंकि आप स्वयं आग में घी डालने का कार्य कर रहे हैं। इसलिए कोई भी उपाय तभी सफल होगा। जब सबसे पहले आप स्वयं उस पर अमल करेंगे। क्योंकि उस कलह को आप खत्म करना चाहते हैं, ना कि सामने वाला व्यक्ति जो आप से झगड़ा कर रहा है। इसलिए पहला कदम आपको उठाना होगा।

परिवार में शांति के लिए ज्योतिषी उपाय

जब भी कोई व्यक्ति आप से झगड़ा प्रारंभ करें। तो उस समय आपको उस झगड़े को सुनना नहीं है। उसके लिए आप कान बंद कर सकते हैं। कान में उंगली डाल के तीन बार ‘शान्तम पापम्’ बोलते हुए जल के छींटे स्वयं पर मार दे। अगर संभव हो तो आप एक माला इस मंत्र को बोलते हुए जपे।

मंत्र – कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने, प्रणय क्लेश नाशाय गोविन्दाय नमो नमः।।

बस इस मंत्र की एक माला जप होती ही सामने वाला व्यक्ति झगड़ा करना बंद कर देगा। क्योंकि यह कहावत आपने सुनी ही होगी, कि “अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता” जब आप उस व्यक्ति के सामने से हट जाएंगे। तो वह व्यक्ति कुछ समय बाद खुद ही बोलना बंद कर देगा। और ऐसे करते करते एक समय ऐसा आएगा, कि वह आप से झगड़ा करना भी बंद कर देगा। हां यह 1 दिन में नहीं होगा। क्योंकि 1 दिन में कोई भी व्यक्ति नहीं बदल सकता। क्योंकि यह चमत्कार नहीं है। यह स्वभाव को बदलना है। इसमें वक्त लगता है।

अब आपके मन में यह प्रश्न उठ रहा होगा। कि जब मुझे झगड़ा करने वाले व्यक्ति से दूर रहना ही है। तो क्यों मैं मंत्र का जप करू। बिना मंत्र जप किए ही उस व्यक्ति से दूर हट जाऊं। जिससे वह झगड़ा करना बंद करदे।

तो आप यह बिल्कुल कर सकते हैं। क्योंकि मंत्र कोई जादू नहीं है। मंत्र आपके मन को शांत करने के लिए किया जाता है। जिससे आपको यह महसूस हो, कि मैंने कुछ किया है। अब मुझे पहले जैसा नहीं व्यवहार करना है। जिससे आपकी स्वभाव में बदलाव आएगा।

मानव स्वभाव ऐसा ही होता है जब तक उस के ऊपर कोई पाबंदी ना लगाया जाए तब तक वह ना चाहते हुए भी उसी कार्य को करता रहता है और इसी कार्य को बदलने के लिए ज्योतिष शास्त्र बनाए गए हैं यहां पर दान करना, पूजा पाठ करना, मंत्र उच्चारण करना आदि हमें हमारे ऊपर पाबंदियां लगाते हैं, जिससे हम कोई बुरा कार्य ना करें।

आपने देखा ही होगा कि जब हम दान, पूजा-पाठ आदि करते हैं। तो उस समय हमारा मन काफी ज्यादा प्रसन्न और शांत रहता है। इसीलिए ज्योतिष शास्त्र में यह सब कराया जाता है। जो आपको एक नेक और भला इंसान बना सके।

आशा करता हूं, कि आप को मेरे द्वारा दिए हुए विचार पसंद आएंगे। और इस ज्योतिष उपाय को भ्रम में ना लेते हुए। अपने आप को बदलने की कोशिश करेंगे। जिससे आप समाज में एक बेहद ही जागरूक व्यक्ति के रूप में उभरेंगे।

      You cannot copy content of this page

      Mangal Muhurt
      Logo